Friday, May 17, 2019

तत्तापानी में पहाड़ों की मेजबानी का लुत्फ

पहाड़ों का सौंदर्य, बर्फ से ढकी उसकी वादी, दरख्तों व घरों पर ठहरे सफेद बर्फ के फाहों को देखकर और उसके खामोश संगीत को सुनकर मन करता है हम यहीं बस जायें. अगर आपको भी पहाड़ों से प्यार हो और उसकी खूबसूरती अपनी ओर खींचती हो, तो हिमाचल घूमने जा सकते हैं. हम ले चलते हैं आपको तत्तापानी के एक छोटे से सफर पर, जहां कुदरत की एक नायाब मिसाल मौजूद है.  

कुदरत ने इस जमीन पर ऐसी-ऐसी नायाब चीजें पैदा की हैं, जिन्हें देखकर दिल और दिमाग सोचने पर मजबूर हो जाते हैं कि क्या सचमुच हम जमीन पर ही हैं. स्वर्ग की संज्ञा से नवाजा जानेवाला कश्मीर इसकी बेहतरीन मिसाल है. फूल-पौधे और बेशुमार जीवों के साथ पहाड़, नदियां, झील-झरने और जंगल की खूबसूरती हमारे अंतरमन तक को मोह लेती है. इस बार के पर्यटन में हम बात करेंगे पहाड़ों की, जिनकी ऊंचाई देखकर एक तरफ धैर्य पैदा होता है, तो दूसरी तरफ इतना ऊंचा उठने का, ताकि लोग हम पर गर्व कर सकें. पहाड़ों का प्रदेश हिमाचल प्रदेश में शिमला, कुल्लू-मनाली, मंडी, कुफरी, किन्नौर, धर्मशाला, कसौली, वीर जैसी जगहों पर कुदरत ने अपनी खासियतें छोड़ रखी है. सर्दी के दिनों में पहाड़ों पर जब आसमान से बर्फ के फुहारे पड़ते हैं, तो लगता है कुदरत हमारा स्वागत कर रही है. 

तत्तापानी में गर्म जलस्रोत 
पिछले दिनों मकर संक्रांति के मौके पर हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला घूमने का मौका मिला था.
Hot Spring Resort- Tattapani
राजधानी शिमला से तकरीबन पचास किलोमीटर दूर मंडी जिले में पहाड़ों की कोख में सतलज नदी के किनारे बसी एक छोटी सी जगह है- तत्तापानी. यहां गर्म जलस्रोत और जलकुंड पाये जाते हैं, इसलिए इसे तत्तापानी कहा जाता है. पंजाबी भाषा में तत्ता का अर्थ गर्म होता है. पहाड़ों के सबसे निचले सिरे में जहां पानी बहुत ठंडा होता है, वहां कहीं-कहीं जमीन से अपने आप गर्म पानी निकलता रहता है. इन जलस्रोतों के पाये जाने से तत्तापानी न सिर्फ अपने धार्मिक महत्व रखता है, बल्कि यह जगह वहां होनेवाले कई अद्भुत खेलों के लिए भी मशहूर है. इन जलस्रोतों से हाइड्रोजन सल्फाइड जैसी गंध आती है. इन जलकुंडों के अपने होने का बहुत महत्व है कि हम कुदरत की गोद में ठंड के आलम में भी गर्म पानी से नहा सकते हैं. 

धर्म और खेल स्थल 
कुदरत जहां कहीं भी हमें चमत्कृत करती है, धर्म वहां फौरन अपना डेरा-डंडा डाल देता है. इसीलिए तत्तापानी के कुदरती जलस्रोतों को भी धार्मिक नजरिये से देखा जाता है. तकरीबन एक किलोमीटर में फैले तत्तापानी में हर साल पूर्णिमा को शानदार मेला लगता है और यहां के जलस्रोतों में नहाकर लोग कई बीमारियों से मुक्ति होने की कामना रखते हैं. राफ्टिंग जैसे खेलों का यहां सालाना आयोजन होता है. मकर संक्रांति के दिन हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर तत्तापानी में त्योहार मनाने आये थे और 'हॉट स्प्रिंग रिजॉर्ट' में ठहरे थे, जहां मैं ठहरा था. मुख्यमंत्री ने तत्तापानी के मशहूर नरसिंह मंदिर और शनि देव मंदिर में जाकर पूजा-अर्चना की और यहां लगे मेले का लुत्फ उठाया. जनता को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि तत्तापानी को पानी के खेलों के लिए एक बड़ा डेस्टिनेशन प्लेस बनाया जायेगा. 

हॉट स्प्रिंग रिजॉर्ट 
शिमला आइएसबीटी से बस या फिर कार से डेढ़-दो घंटे का सफर पूरा करके पहाड़ों की तलहटी में सर्पमार्ग बना रही सतलज के किनारे तत्तापानी पहुंचना होता है. वैसे तो वहां ठहरने के लिए कई छोटे-बड़े होटल हैं, लेकिन हॉट स्प्रिंग रिजॉर्ट में ठहरने का अपना एक राजसी आनंद है. यह रिजॉर्ट सिर्फ ठहरकर पहाड़ी रात का लुत्फ उठाने के लिए ही नहीं है, बल्कि यहां बोटिंग, फिशिंग, कैंपिंग और ट्रेकिंग-राफ्टिंग की भी पूरी व्यवस्था है. इस रिजॉर्ट की व्यवस्था में सबसे खास बात यह है कि यहां हॉट स्प्रिंग हेल्थ केयर सेंटर में आयुर्वेद, नेचुरोपैथी और योग के जरिये पंचकर्म उपचार की भी व्यवस्था है, जो एक से बढ़कर एक असाध्य रोगों को दूर करने में कारगर है. रिजॉर्ट में लोग ठहरकर सांध्य योग करते हैं और मिनरल से भरपूर हॉट स्प्रिंग बाथ में बने कुदरती जलकुंड में नहाते हैं. कहते हैं कि इस जलकुंड के सल्फर वाटर में नहाने से त्वचा संबंधी कई असाध्य रोग दूर हो जाते हैं. अभ्यंगम मसाज, सर्वांग स्वेदन स्टीम बाथ, शिरोधारा, नेत्र तर्पन, नस्यम, सुखनिद्रा, रिजुवेनेशन थेरेपी, बॉडी इम्युनाइजेशन, स्लिमिंग, ब्यूटी केयर, स्पाइन एंड नेक केयर, मनोशांति, नेवल सीटिंग और स्पा आदि से कुदरत की गोद में बिठाकर आयुर्वेदिक इलाज किया जाना अद्भुत एहसास लगता है. 

बेहतरीन मेजबानी
पहाड़ों के बीच बने हॉट स्प्रिंग रिजॉर्ट की मेजबानी बहुत शानदार है. वहां कोई इसकी कल्पना भी नहीं कर सकता कि पाताल से जरा सा ऊपर पहाड़ों की तलहटी में सतलज नदी के किनारे कोई फाइव स्टार होटल जैसी व्यवस्था दे सकता है. सैर-सपाटे के ऐतबार से यह रिजॉर्ट अपने आप में एक डेस्टिनेशन है. इस रिजॉर्ट के प्रेमलाल रैना और उनके सहयोगी युवराज त्यागी से बात करने का भी एक अलग एहसास है. कहीं भी घूमने जाने के साथ वहां के जायके का भी अपना एक महत्व होता ही है. इस ऐतबार से हॉट स्प्रिंग रिजॉर्ट के ऑर्गेनिक रेस्टोरेंट के हिमाचली खाने का स्वाद तो शायद ही हम भूल पायें. सर्दियां चल रही हैं, पहाड़ों की मेजबानी का लुत्फ लेना हो, तो तत्तापानी आप जरूर जायें.

2 comments:

  1. थैंक्स तत्तापानी के बारे में इतनी बढ़िया जानकारियां देने के लिए। जीवन में कभी मौका मिला तो हम भी इस जगह ज़रूर जाएंगे। आप हमारी वेबसाइट को भी देख सकते हैं। कृपया अपना कीमती ओपिनियन हमें ज़रूर दें।
    https://modernkabootar.com/places-in-india-every-foodie-needs-to-make-a-trip/

    ReplyDelete